28.1 C
RAIPUR
Monday, December 5, 2022
Home साहित्य

साहित्य

स्मृतिशेष शेखर जोशी: शेष हुआ अब शंखनाद वह

शेखर जोशी जी का जाना .....एक जनवादी मन का अवसान नब्बे बरस के भरे-पूरे, स्वस्थ और सक्रिय जीवन के बाद मृत्यु शोक का विषय नहीं...

स्टालिन और समाजवाद पर हमले का हथियार बनी फर्जी तथ्यों वाली पुस्तको का खुलासा

‘Stalin: Waiting For ... The Truth’ आलेख - मनीष आज़ाद 2010 में Timothy D. Snyder की एक किताब आयी थी- ‘Bloodlands’. इसमें बताया गया था कि...

जनवादी लेखक संघ का 10वां राष्ट्रीय सम्मेलन 23 से 25 सितम्बर तक जयपुर में

छत्तीसगढ़ के महासचिव नासिर अहमद के नेतृत्व में टीम रवाना रायपुर, देश में प्रतिगामी ताकतों के ख़िलाफ़ एकजुटता और साम्प्रदायिक एकता, सदभाव का वातावरण बनाने...

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में फीस वृद्धि के खिलाफ छात्र आंदोलन

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में फीस वृद्धि के खिलाफ आंदोलन जारी आलेख- विजय शंकर सिंह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र, अप्रत्याशित फीस वृद्धि के खिलाफ पिछले कई दिन से...

जनसंस्कृति मंच का 16 वां राष्ट्रीय सम्मेलन रायपुर में होगा

रायपुर. जन संस्कृति मंच लेखक,साहित्यकारों और संस्कृतिकर्मियों का महत्वपूर्ण संगठन है. इस संगठन का 16 वां राष्ट्रीय सम्मेलन रायपुर में 8-9 अक्टूबर 2022 को...

जीवन नीरस नही बल्कि सरस होना चाहिये – काका हाथरसी ने कहा था

न्याय और अन्याय का नोट करो डिफरेंस , जिसकी लाठी बलवती ,हाँक ले गया भैंस ! हास्य -व्यंग्य के बेजोड़ कवि काका हाथरसी की जयंती और पुण्यतिथि...

हबीब तनवीर ने रंगमंच को आम आदमी के लिए खोला और खेला- जीवेश चौबे

आज हबीब तनवीर का सौवां जन्मदिवस है. - जीवेश चौबे प्रख्यात नाट्यकार, निर्देशक, अभिनेता हबीब तनवीर का यह जन्म शताब्दी वर्ष है। उनका जन्म 1 सितंबर...

क्या -क्या नहीं थे हरि ठाकुर ?

छत्तीसगढ़ के अनमोल रत्न रहे हरि ठाकुर (जयंती पर स्मृति आलेख : स्वराज करुण ) सोच रहा हूँ -आज उनकी जयंती पर हम उन्हें किस रूप...

शिक्षक के मटके से पानी पीने पर पिटाई से तीसरी के छात्र की मौत

भांडे ही में भेद है - भंवर मेघवंशी राजस्थान के जालोर जिले के सायला ब्लॉक के सुराणा गाँव की सरस्वती विध्या मंदिर स्कूल की तीसरी...

लोक कल्याणकारी राज्य की संकल्पना और आज़ादी का अमृत महोत्सव

आजादी का अमृत महोत्सव विशेष आलेख- भुवाल सिंह ठाकुर "आजादी का अमृत" स्वाधीनता की इच्छा मनुष्य की स्वाभाविक जीवनी शक्ति है,प्रत्येक समाज और राष्ट्र की अस्मिता इस...