20.1 C
RAIPUR
Wednesday, February 21, 2024
Home साहित्य

साहित्य

22 सितंबर से जारी तीन दिवसीय युवा कविता रचना शिविर का धमतरी में समापन

अंचल के युवा कवियों की सजग उपस्थिति ने कार्यक्रम को सफल बनाया धमतरी,24 सितंबर 2023,   साहित्य अकादमी छत्तीसगढ़ संस्कृति परिषद एवं अज़ीम प्रेमजी फाउंडेशन द्वारा...

उपमुख्यमंत्री बनाये जाने के बाद कार्यशैली में बदलाव दिखाया टीएस ने

आईना दिखा रहे हैं डिप्टी सीएम - दिवाकर मुक्तिबोध छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार के पिछले साढ़े चार वर्षों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बाद यदि दूसरा...

दुर्ग में मनाया गया कवि शैलेन्द्र का 100वां जन्मदिवस

जनवादी लेखक संघ दुर्ग ने मनाया गीतकार शैलेन्द्र का जन्म शताब्दी समारोह दुर्ग - इस सदी के महान जनवादी कवि और विश्व विख्यात फिल्मी गीतकार...

अनुच्छेद 370 पर आपत्ति की सुप्रीम कोर्ट में 20 याचिकाओं पर सुनवाई जारी, संसद...

जो काम संसदको करना चाहिए था वो इस वक़्त सुप्रीम कोर्ट कर रहा है! अनिल जैन चार साल पहले संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाते वक्त...

राजा और चींटियां – मनीष आज़ाद की कविता

मनीष आज़ाद की कविता राजा और चींटियां राजा को वरदान है उसे कोई मार नहीं सकता. लेकिन साथ ही एक चेतावनी भी है, उसे छोटे छोटे घावों से बचना...

दास्तान ए आज़ादी का आयोजन 8 अगस्त को,

पंडित जवाहरलाल नेहरू स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय ऑडिटोरियम रायपुर में मंगलवार 8 अगस्त दोपहर 11:00 से 3:00* के बीच दास्तान ए आजादी कार्यक्रम का आयोजन...

14 अगस्त को वसुंधरा सम्मान मिलेगा वरिष्ठ पत्रकार सुधीर सक्सेना को

रायपुर में 14 अगस्त को मुख्यमंत्री आवास में आयोजित होगा वसुंधरा सम्मान समारोह, पत्रकार सुधीर सक्सेना होंगे सम्मानित रायपुर.प्रदेश में स्वर्गीय देवीप्रसाद चौबे ( दुर्ग)...

मणिपुर 2002 का गुजरात: जिन्हें नाज़ है हिंद पर, वो कहां है? जवारीमल्ल पारख)

आलेख : जवारीमल्ल पारख दो कुकी आदिवासी महिलाओं को निर्वस्त्र कर सार्वजनिक रूप से अपमानित करने और उसके बाद युवा स्त्री को सामूहिक बलात्कार का...

लोकतंत्र के बुनियादी ढांचों पर हमलों का समय है- राहुल गांधी

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में राहुल गांधी के अंग्रेजी में दिए गए मूल  भाषण का हिंदी अनुवाद   इंडिया न्यूज के लिये विशेष रूप से फ़ीरोज़ शानी (...

लोक शिक्षक की भूमिका में प्रभाकर चौबे पूरी तरह सफल रहे

कवर्धा , स्व.प्रभाकर चौबे स्मृति व्याख्यान श्रृंखला के अंतर्गत  सर्किट हाउस कवर्धा के अशोक हॉल में 'हमारा नागरिकता बोध और प्रभाकर चौबे की रचनात्मकता'...