27.1 C
RAIPUR
Friday, July 1, 2022
Home साहित्य विचार और विमर्श

विचार और विमर्श

क्यों जरूरी है आज मलयाली फ़िल्म ” जन गण मन” देखना?

मलयाली फ़िल्म  जन गण मन में उठाये गए हैं आज के सवाल , ऐसे सवाल जो समाज के हर वर्ग को एकदम करीब और...

छत्तीसगढ़ की फ़िल्म बैलाडीला कान्स फ़िल्म फेस्टिवल में

'बैलाडीला' कॉन्स फ़िल्म फेस्टिवल में पहुंच चुकी है बता रहे हैं कवि ,लेखक तथा समीक्षक पीयूष कुमार रायपुर, 16 मई 2022 . छत्तीसगढ़ के सिनेमा...

कबीर, फ़िराक, मुक्तिबोध को कोर्स से हटाने की मजबूरी समझें

फ़ैज़, कबीर, मीरा, मुक्तिबोध, फ़िराक़ को कोर्स-निकाला! (व्यंग्य : राजेन्द्र शर्मा) ये लो, कर लो बात। अब मोदी के विरोधियों को सीबीएसई के पढ़ने वाले बच्चों...

डॉ आंबेडकर को संविधान निर्माण तक सीमित करना सही नही

अम्बेडकर को कमज़ोर करने की कोशिशें नाकाम करें- आलेख- सुसंस्कृति परिहार आजकल गांधी, नेहरू और भगवान राम की तरह भीमराव अम्बेडकर को भुनाकर उन्हें कमज़ोर...

गांधीवाद फिर खतरे में – चुनाव के बाद की परिस्थितियों पर विमर्श

5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के परिप्रेक्ष्य में प्रसिद्ध लेखक-पत्रकार राकेश अचल का बढ़िया आलेख- गांधीवाद फिर खतरे में? -राकेश अचल विधानसभा चुनावों में हार-जीत की गर्द...

कोराना काल का उत्तरार्ध आ गया है क्या अब ब्रम्हास्त्र चलाने का समय है...

आखिर क्रिप्टो करेंसी , डिजिटल करेन्सी , बिट क्वाइन को क्यों लाया जा रहा है- गिरीश मालवीय  न्यू वर्ल्ड ऑर्डर का सबसे अहम ओर सबसे...

चिकित्सा व्यवसाय में घटती विश्वसनीयता, निजीकरण का बढ़ता जाल

शकील अख्तर निजीकरण से चिकित्सा को भी लाभकारी व्यवसाय बनाने के खतरे अब समाज झेल रहा है।प्रस्तुत है श्री शकील अख्तर का आलेख अभी सभी बड़े अखबारों...

क्या सरकार नागरिकों के क़ानूनी हकों के प्रति खुद गंभीर नहीं ? 1978...

ऐसे समय में जब अन्य वस्तुओ और सेवाओ के साथ साथ बढ़ती महंगाई न्यायिक सेवा हासिल करने में भी आम जनता के लिए एक...

‘अल्ला हू अकबर’ और ‘हर हर महादेव’ के युग्म से इतना क्यों डर गए...

मुजफ्फरनगर की किसान महापंचायत के सबक (आलेख : बादल सरोज) 5 सितम्बर के मुज़फ्फरनगर के इतवार के महापंचायत की खासियतें इस बार कारपोरेट गोदी मीडिया के...

अब इंफोसिस की बारी !! सबका नंबर आएगा

.. और फिर वे इन्फोसिस के मूर्तिभंजन के लिये आये, नारायण! नारायण!! (आलेख : बादल सरोज) आरएसएस और भाजपा की दीदादिलेरी काबिलेगौर है। वे जितनी फटाफट...